Breaking News

प्रधानमंत्री ने किया देश के पहले पब्लिक ट्रांसपोर्ट रोप-वे का शिलान्यास

वाराणसी : 24 मार्च, 2023
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज जनपद वाराणसी में संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय परिसर में आयोजित कार्यक्रम में 1780 करोड़ रुपये लागत की 28 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इससे पूर्व, देश के पहले पब्लिक ट्रांसपोर्ट रोप-वे का शिलान्यास कर रोप-वे के मॉडल का भी अवलोकन किया।
प्रधानमंत्री ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि नवरात्र का पुण्य समय है, आज माँ चंद्रघंटा की पूजा का दिन है। यह उनका सौभाग्य है कि इस पावन अवसर पर आज वह काशी की धरती पर आये हैं। माँ चंद्रघंटा के आशीर्वाद से आज बनारस की सुख-समृद्धि में एक और अध्याय जुड़ रहा है। आज यहां पब्लिक ट्रांसपोर्ट रोपवे का शिलान्यास किया गया है। बनारस के चौतरफा विकास से जुड़े सैकड़ों करोड़ रुपए के दूसरे प्रोजेक्ट्स का भी लोकार्पण और शिलान्यास हुआ है। इनमें पीने के पानी, स्वास्थ्य, शिक्षा, गंगा जी की साफ-सफाई, बाढ़ नियंत्रण, पुलिस सुविधा, खेल सुविधा, ऐसे अनेक प्रोजेक्ट्स शामिल हैं। आज यहां आई0आई0टी0 बी0एच0यू0 में सेन्टर ऑफ एक्सीलेंस ऑन मशीन टूल्स डिजाइन का शिलान्यास भी सम्पन्न हुआ है। इससे बनारस को एक और विश्वस्तरीय संस्थान मिलने जा रहा है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि काशी के विकास की चर्चा आज पूरे देश और दुनिया में हो रही है। जो भी काशी आ रहा है, वो यहां से नई ऊर्जा लेकर जा रहा है। 09 वर्ष पहले जब काशी के लोगों ने अपने शहर के कायाकल्प का संकल्प लिया था, तो लोगों को आशंकाएं थीं कि बनारस में कुछ बदलाव नहीं हो पाएगा। काशी के लोगों ने आज अपनी मेहनत से हर आशंका को गलत साबित कर दिया है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि आज काशी में पुरातन और नूतन दोनों स्वरूपों के दर्शन एक साथ हो रहे हैं। देश-विदेश के लोग काशी विश्वनाथ धाम के पुनर्निर्माण से मंत्रमुग्ध हैं। लोग गंगा घाट पर हुए काम से प्रभावित हैं। दुनिया का सबसे लंबा रिवरक्रूज हमारी काशी से चला, उसकी भी बहुत चर्चा हुई। आप लोगों के इन्हीं प्रयासों की वजह से एक साल के भीतर 07 करोड़ से अधिक पर्यटक काशी आए। महादेव के आशीर्वाद से यह बहुत बड़ा काम हुआ है। बनारस आने वाले लोग यहां के प्रत्येक परिवार के आय के साधन तथा रोजगार एवं स्वरोजगार के नए अवसर बना रहे हैं।
विगत 09 वर्षों के विकास कार्यों के बाद, जिस तेजी से बनारस का विकास हो रहा है, अब उसे नई गति देने का भी समय आ गया है। सड़क, पुल तथा एयरपोर्ट कनेक्टिविटी के तमाम नए साधनों ने काशी आना-जाना बहुत आसान कर दिया है। लेकिन अब हमें एक कदम और आगे बढ़ना है। यहां बन रहे रोप वे से काशी की सुविधा और काशी का आकर्षण दोनों बढ़ेगा। रोप वे बनने के बाद, बनारस कैंट रेलवे स्टेशन और काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के बीच की दूरी कुछ मिनटों की रह जाएगी। इससे बनारस के लोगों की सुविधा और बढ़ जाएगी तथा कैंट स्टेशन से गौदोलिया के बीच ट्रैफिक जाम की समस्या भी बहुत कम हो जाएगी। कैंट रेलवे स्टेशन के ऊपर ही रोप-वे का स्टेशन बनेगा, जिससे लोग इसका सीधे लाभ ले सकेंगे। ऑटोमैटिक सीढ़ियां, लिफ्ट, व्हील चेयररैंप, रेस्टरूम और पार्किंग जैसी सुविधाएं भी वहीं उपलब्ध हो जाएगी। रोप वे स्टेशनों में खाने-पीने की सुविधा, खरीदारी की सुविधा भी होगी। यह काशी में बिजनेस और रोजगार के एक और सेंटर के रूप में विकसित होंगे।

Check Also

वाराणसी के रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर से पीएम ने यूपी में 16 अटल आवासीय विद्यालयों का किया लोकार्पण

वाराणसी, 23 सितंबर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शनिवार को रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर में काशी सांसद सांस्कृतिक …

Leave a Reply

Your email address will not be published.