Breaking News

मुख्यमंत्री ने जनपद बलरामपुर में महिला सशक्तिकरण रैली को दिखाई हरी झण्डी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज जनपद बलरामपुर में चैत्र नवरात्रि के प्रथम दिवस पर ‘मिशन शक्ति’ के अन्तर्गत आयोजित ‘महिला सशक्तिकरण रैली’ को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि आज से चैत्र नवरात्रि का पावन त्योहार प्रारम्भ हुआ है। यह भारत की परम्परा में शक्ति पूजा का अनुष्ठान है। चैत्र नवरात्रि की नवमी तिथि को भगवान श्रीराम का जन्म हुआ था। शक्ति पीठ देवीपाटन का अपना महात्म्य है।  नवरात्रि के अवसर पर यहां दूरदराज से भक्त आकर आदि शक्ति मां भगवती पाटेश्वरी के दर्शन करते हैं।
उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा वर्ष 2020 में जनपद बलरामपुर में नवरात्रि की प्रथम तिथि से ‘मिशन शक्ति’ अभियान प्रारम्भ किया गया था। उस समय भी वे बलरामपुर आए थे और इस अभियान को आगे बढ़ाया था। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा संचालित ‘मिशन शक्ति’ कार्यक्रम देश में मिसाल बना है। अनेक राज्यों में इसे मान्यता मिली है। आज नवरात्रि के प्रारम्भ होने के अवसर पर उत्तर प्रदेश पुलिस नारी सुरक्षा, सम्मान और स्वावलम्बन के ध्येय से दो यात्राएं प्रारम्भ कर रही हैं। इनमें से एक यात्रा आदि शक्ति मां भगवती पाटेश्वरी के पावन धाम से प्रारम्भ होकर बुन्देलखण्ड क्षेत्र के ललितपुर जनपद तक पहुंचेगी। दूसरी यात्रा मां विन्ध्यवासिनी धाम से प्रारम्भ होकर गौतमबुद्धनगर जनपद तक पहुंचेगी। यह दोनों यात्राएं रामनवमी को पूर्ण होंगी।
यह दोनों यात्राएं जिन जनपदों से गुजरेंगी तथा जिन जनपदों में रुकेंगी, वहां नारी सुरक्षा, स्वावलम्बन और सम्मान के मुद्दों पर जागरूकता कार्यक्रम करते हुए आगे बढ़ेंगी। प्रतिदिन दो पहिया वाहनों से महिला पुलिस अधिकारी/महिला बीट अधिकारी 80 किलोमीटर से लेकर 120 किलोमीटर की यात्रा करेंगी।
मुख्यमंत्री जी ने सभी को बासंतीय नवरात्रि तथा नवसंवत्सर की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मां भगवती सभी को इतना समृद्ध करें कि वे अपना सम्पूर्ण जीवन लोक कल्याण के लिए समर्पित कर सकें।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री को स्थानीय महिला ग्राम प्रधानों द्वारा स्मृति चिन्ह भेंट किया गया। कार्यक्रम में जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Check Also

उत्तर प्रदेश में सर्दी का सितम और कोहरे का कहर जारी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सर्दी का सितम और कोहरे का कहर जारी है। ज्यादातर जिलों …

Leave a Reply

Your email address will not be published.